शिशुओं के लिए संगीत थेरपी

Join Huggies now to receive week by week pregnancy newsletters.

शिशुओं के लिए संगीत थेरपी

2 min |

क्या आपको यह जानकारी थी कि आपके शिशु में शुरुआत से ही ध्वनि, वाणी और संगीत को ग्रहण करने की क्षमता होती हैजब वे लगभग 24 दिन के होते हैं, तभी से वे लय में थोड़े से बदलाव को भी पहचान सकते हैं और यहां तक कि परिवार के अलग-अलग सदस्यों की आवाज को भी पहचान सकते हैं। यह सचमुच अद्भुत हैयदि एक पांच माह का शिशु प्रतिदिन किसी गीत को सुनता है, तो वह उसे सुनते ही उसकी संगीत रचना को पहचान सकता है!

प्रत्येक परिवार (अथवा माता-पिता) अपने बच्चे को दिलासा देने के लिए कोई तराना अथवा गीत सुनाते हैं। जब आप कोई मधुर गीत बजाकर अपने बच्चे को गोद में लेकर इधर-उधर घूमते हैं, तो यह काफी आनन्ददायक और आसान होता है। संगीत कुछ नहीं करता है बल्कि काम की तरह कम और आराम की तरह अधिक बच्चे को शांति प्रदान करता है शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि शिशु भी संगीत के प्रति प्रतिक्रिया करते हैं।  

बच्चों के लिए गायन कई लोगों के लिए स्वाभाविक रूप से आते हैं। यहां तक की जब हम अपने शिशुओं से बात करते हैं तो अपनी आवाज को अधिक संगीतमय बनाने के लिए उसे बदलते हैं! हम अपनी आवाज को अधिक लयबद्ध बनाते हैं और दोहराते हैं, और कुछ पिच काउंटर पर विशेष जोर देते हैं।  संगीतमय आवाज को भावनात्मक रूप से अधिक अभिव्यक्तिपूर्ण बनाती है और शिशु इसके प्रति प्रतिक्रिया करते हैं।  जब आप रिकार्ड किए गए संगीत पर गाते हैं, तो इसका एक फायदा हैव्यक्तिगत लगाव। यह आपके लगाव को केवल और अधिक मजबूत बनाता है बल्कि आपके बच्चे को शांत बनाता है और उसके विकास को बढ़ावा देता है।गुनगुनाना और लोरी सुनाना नि:संदेह महत्वपूर्ण है क्योंकि ये शिशु को आनंद देते हैं और सुरक्षा की भावना प्रदान करते हैं। इसके अलावा, वे आपके शिशु के सीखने की लंबी यात्रा में पहले कदम  हैं और वे बोलने और आवाज को समझने में शिशु की मदद करते हैं। आपने देखा होगा कि जब आप अपने शिशु के पास गुनगुनाते हैं अथवा गाना गाते हैं तो उसका चेहरा चमक उठता है; वे खिलखिलाते हैं और प्यार से आवाज निकालते हैं क्योंकि उन्हें आपकी आवाज की ध्वनि अच्छी लगती है! अपने बच्चे के लिए गाना उससे जुड़ने का एक जैविक तरीका है।

अपने बच्चे के लिए गाना गाने के कुछ फायदे नीचे दिए गए हैं

  1. शब्दावली:जब आप गाते हैं, तो आप अपने बच्चे की दुनिया में नए शब् जोड़ते हैं जिससे उन्हें उनकी शब्दावली में मदद मिलती है। आप संबंधों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, किसी पक्षी के बारे में गीत गाते समय आप उस पक्षी की तरह का खिलौना अथवा तस्वीर हाथ में ले सकते हैं ताकि आपका शिशु समझ सके कि पक्षी क्या होता है।
  2. सुनने के कौशल: गाना एक दूसरा तरीका है जिसके माध्यम से आपका बच्चा भाषा को और भाषा एवं गीत के माध्यम से व्यक् की गई भावनाओं को समझना सीखता है, साथ ही साथ उसके सुनने के कौशलों में सुधार होता है।
  3.  लगावजब आप अपने बच्चे के लिए गाना गाते हैं, तो आप दोनों के बीच लगाव और अधिक मजबूत होता है। यह अपने शिशु के लिए प्यार और स्नेह व्यक् करने का एक तरीका है।
  4. दिनचर्या: यदि आप बच्चे के कपड़े बदलते समय अथवा उन्हें खाना खिलाते समय अथवा उन्हें सुलाते समय प्रतिदिन गाना गाते हैं, तो बच्चे अपनी दिनचर्या को समझने लगते हैं और जान जाते हैं कि अब क्या उम्मीद की जा रही सकती हैइससे उन्हें अतिरिक् सुरक्षा मिलती है।

लेकिन यदि आप बहुत अच्छे गायक नहीं है, तो क्या होगाइसके बारे में चिंता करें। शिशु ही ऐसे श्रोता होते हैं जो कभी भी बिना किसी आलोचन के आपका गाना सुनते हैं!   आप जैसा हैं वे वैसे ही पसंद करते हैं और बहुत से माता-पिता को पाते हैं कि अपने शिशु के सामने वे बिना किसी आत्म-समझ के गा सकते हैं।