सभी श्रेणियां
सोने का समय
टीका
त्वचा देखभाल युक्तियाँ
बच्चे का स्नान
अपने बच्चे के साथ बंधन
बच्चे का खाद्य
बच्चे का खाद्य और व्यंजन
शिशु देखभाल पर विशेषज्ञों

ठोस आहारों का परिचय

Introducing solid foods

शिशुओं के पालन को लेकर नये माता-पिता के मन में आने वाले कई प्रश्नों में से एक महत्वपूर्ण सवाल यह है किउन्हें ठोस आहार कब से दिया जाए। माता-पिता होने के नातेआपके लिए यह बिलकुल सहज है कि आप इस बात को लेकर सजग हैं कि शिशुओं को शुरुआत में कौन सा आहार दिया जाए और कब। आख़िरकार आपका शिशु उत्कृष्ट पाने का हकदार हैं !

आम तौर पर,ठोस आहार 4 से 6 महीनों के बीच शुरू किया जा सकता है, हालांकि अधिकतर 6 महीनों के करीब। 4-6 महीनों के बीच स्तनपान और सूत्र उनको सभी पोषण आवश्यकताए प्रदान करते हैं। 6 मास के करीब, मां की कोख में आपके शिशु द्वारा जमा किये हुए आयरन की मात्रा कम होने लगती है, जो कि अन्य कारणों में से एक है कि इस समय हम ठोस आहार की शुरुवात करते हैं। नए माता-पिता को होने वाली कुछ चिंताए नीचे दर्शायी गयी है, साथ ही ठोस आहार शुरू करने संबंधी सुझाव!

 1. कितनी जल्दी या देर से ?

  •  ठोस आहार बहुत जल्दी शुरू करने से यह अविकसित पाचन तंत्र पर प्रभाव डालता है (अधिकतर शिशुओं के पाचन तंत्र 6 मास की आयु तक काबिल नहीं होते है), साथ ही यह मातृ दूध आपूर्ति को भी कम करता हैं।
  • अन्य चिंता जैसे कि आहार से एलर्जी, दस्त और पेट की समस्या निर्माण करने वाले कीड़ो से संपर्क से हो सकता हैं।
  •  शीघ्र या देरी से,, अधिकांश माता-पिता शीघ्र या देरी से यह समझ जाएंगे कि स्तनपान / फ़ॉर्मूला कितना उपयुक्त है (विशेष रूप से यदि आप दूसरी बार पालक बने है)।निश्चित रूप से कई माता-पिता के मन में ठोस आहार देने की कोई जल्दी नहीं होती है, फिर भी, शोध के अनुसार 6 महिने से पहले आपका शिशु ठोस आहार से कोई लाभ नहीं पा सकता हैं।
  • हालांकि, यदि आप लंबे अंतराल तक ठोस आहार प्रदान नहीं करते है, तो आप अपने शिशु के पोषण अवस्था को कमजोर बनाने का जोखिम उठाते हैं।विशेषतः स्तनपान द्वारा मिलने वाले आयरन और जिंक की मात्रा आपके शिशु के लिए पर्याप्त नहीं होती है, क्योंकि आपके शिशु की मांग में वृद्धि होती है। यह एक नाजुक बदलाव है जो आपके शिशु के लिए सही समय पर होना चाहिए।
  • शीघ्र / देरी से ठोस आहार देने से अन्य समस्याओ में रोगप्रतिकारक परेशानी और अल्प विकसित तंत्र, उदाहरण के तौर पर चबाने की प्रक्रिया का समावेश हो सकता हैं।

2. आपको कितनी मात्रा से शुरुवात करनी चाहिए ?

  •  प्रायः आहार शुरू करने से करीब 1 महिने का समय लगता है जब शिशु 10 मिली से ज्यादा आहार एक दिन में ले सके (सिर्फ 2 चमच्च से ज्यादा), और 100 मिली से ज्यादा आहार ग्रहण करने में डेढ़ महिने से अधिक।
  • हालांकि,जिन शिशुओं को ठोस आहार कम उम्र में देना शुरू किया जाता है उन्हें इन मात्रा तक पहुंचने में अधिक समय लगता है ; इसलिए 6 मास की आयु में ठोस आहार देने से यह समय कम हो जाता है।

3. प्रारंभिक आहार के सुझाव

  •  आपके द्वारा दिया जाने वाला आहार महीन, पतला मसला हुआ और स्थिरता में कोमल होना चाहिए।
  • यह अत्यंत आवश्यक है कि एक समय पर एक ही आहार दिया जाए और उनमे नमक, चीनी या किसी भी प्रकार के मसाले का समावेश न हों। शिशुओं के दूध स्रोत को कायम रखने से किसी भी प्रतिक्रिया के लिए एकमात्र आहार का कारण समझने में मदद होती हैं।
  • आप जो आहार देते है उन्हें बदलते रहे ताकि आप एक आहार को 3-5 दिन में एक बार ही दे सके।माता-पिता भी इस बात से सहमत हो सकते है कि एक ही आहार को बार-बार खाने से बदतर  कुछ नहीं हैं।  यह आहार प्रतिक्रिया और एलर्जी के जोखिम को भी कम करने में मदद करेगा, और अल्प संभावित प्रतिक्रिया प्रसंग में, दिन के अंत से पहले स्पष्ट हो जायेगा।
  • सफलतापूर्वक विभिन्न आहारों को शुरू करने के पश्चात्, सुनिश्चित करे की आप उन्हें निश्चित अंतराल पर बदलते रहे ताकि आपका शिशु संतुलित आहार पा सके। इस शुरुवाती दौर में विविधता आपको उधम मचाते, बच्चों की आयु के चरण से भी गुजरने में मदद कर सकते हैं।
  • संयम रखे कई शोध यह बताते है कि आपके शिशु के लिए नये आहार को स्वीकार करने में 10 अवसर तक लग सकते है।
  • अवोकेडो (अन्य सब्जियों की तरह यह आसानी से उपलब्ध नहीं होती है, लेकिन आप प्रयास कर सकते है) एक पसंदीता प्रारंभक के रूप में बदल सकता है क्योकि इनकी वसायुक्त अम्ल बनावट स्तन के दूध के समान होती हैं। जब आप इसे पतला सानकर स्तन दूध या फ़ॉर्मूला में मिला देते है, तब यह एक ऐसा विकल्प बन सकता है जिसका आनंद आपका शिशु जल्दी लेने लगेगा

रोचक आलेख

नवजात शिशु 23/01/2020

How play and fed affect your babies sleep
नवजात शिशु 23/01/2020

खेलना और सोना आपके शिशु की नींद को किस प्रकार प्रभावित करता है

खाना/खेलना/सोना अच्छी दिनचर्या निर्धारित करने के महत्वपूर्ण अंग हैं। ये 3 चरण अलग-अलग होने चाहिए...

Biểu đồ từ mang thai đến ngày sinh nở
सक्रिय शिशु 29/01/2020

आपके शिशु का पहला शब्‍द- एक अंतर्दृष्टि

आपका शिशु बातचीत की तैयारी कर रहा है! जन्‍म लेने के समय से ही आपका शिशु आपके साथ अपनी मौलिक जरूरत को लेकर बातचीत करना शुरू कर देता है। जन्‍म लेने पर आपके शिशु द्वारा पहली बार रोने का अर्थ है ''सुनिए, मुझे ठंढ लग रही...

विषय के साथ आलेख