सभी श्रेणियां
क्या मैं गर्भवती हूँ
गर्भावस्था - की सप्ताह दर सप्ताह गाइड
गर्भवती हो रही है
गर्भावस्था आहार
सूचियां करने के लिए गर्भावस्था
एक बेबी शावर की योजना बना रहा है
शिशु का जन्म
गर्भावस्था व्यायाम

गर्भ धारण करने का प्रयास

6 Things To Keep In Mind Regarding Your Diet And Lifestyle Before Trying To Get Pregnant

संतुलित आहार अपनाना - गर्भ धारण करने के लिए तैयार माँ के रूप में आपके लिए एक अत्यंत आवश्यक कारक। अपने खाने में फलों और सब्जियों के रूप में पर्याप्त रेशेयुक्त भोजन लेने का ध्यान रखें। फ़ॉलिक एसिड की उचित मात्रा ग्रहण करने के लिए हरी सब्जियों और अनाजों की मात्रा बढ़ाएँ। अपने आहार में कभी-कभी  मछली शामिल करें; क्योंकि ओमेगा 3 फैटी एसिड आपके होने वाले शिशु के मस्तिष्क के विकास के लिए उतना ही जरूरी होता है।

भोजन

खुराकों की सुझाई संख्या

1 खुराक़ का उदाहरण

टिप्पणी

चावल और वैकल्पिक आहार

6 - 7

1 मध्यम कटोरा चावल/नूडल्स

2 स्लाइस ब्रेड

3 रोटी1 मध्यम आलू

1 कप ओट्स/अनाज

 

फल

2

1 लंबा टुकड़ा पपीता/हनीड्यू

1 छोटा सेब/नाशपाती/संतरा

 

सब्जियाँ

2

¾ मग (100 ग्राम) भर पकी हुई सब्जियाँ

कम से कम रोजाना 1 हरी सब्जी शामिल करें

प्रोटीन

2

1 मध्यम सहजन

100 ग्राम (1 हथेली के आकार का टुकड़ा) कम वसा मांस/मछली

1 अंडा = कप पकी फलियाँ/दालों की 1/3 खुराक

2 छोटी कटोरी बीनकर्ड

यदि आपका कॉलेस्ट्रॉल लेवल हाई है, तो अंडे की जर्दी को हफ्ते में 4 से ज्यादा खाएं

दूध और वैकल्पिक आहार

2-4

1 कप दूध या उच्च-कैल्शियम सोयाबीन मिल्क 2 स्लाइस चीज़ 1 छोटा टब योगहर्ट

कम-वसा या गैर-वसा डेयरी उत्पादों का चुनाव करें।

  1. कैल्शियम लेने की मात्रा बढ़ाएँ - गर्भावस्था के दौरान, अपने खुद के कैल्शियम को बनाए रखने और आपके शिशु की हड्डियों और दांतों के विकास के लिए आपको अधिक कैल्शियम की आवश्यकता होती है। गर्भावस्था के दौरान आपकी कैल्शियम आवश्यकता एक दिने में 1000 मिलीग्राम होती है, जिसे आप रोजाना दूध और वैकल्पिक आहार की 2-4 ख़ुराकों से पूरा कर सकते हैं।
  2. वर्कआउट रुटीन अपनाएँ - आपका शरीर काफी सारे बदलावों का अनुभव करने वाला है। शारीरिक रूप से, आपको इसके लिए तैयार होना पड़ेगा। अपने रक्त प्रवाह को दुरुस्त करने के लिए स्ट्रेचेस और कार्डियो वर्कआउट्स अपनाएँ। एक तंदुरुस्त शरीर संपूर्ण गर्भावस्था को काफी आरामदेह बनाता ही है, जिसमें काफी कम दुष्प्रभाव और परेशानियाँ पैदा होती हैं।
  3. अल्कोहल और धूम्रपान से बचें - आप अत्यधिक अल्कोहल भी लेती हों, तो भी यदि आप माँ बनने का प्रयास कर रही हैं तो आप इसे छोड़ ही दें। यह पुरुष और महिला दोनों पर लागू होता है। ऐसी लतों (ख़ासकर धूम्रपान‌) को बिल्कुल ही त्याग दें। आपका होने वाला शिशु स्वस्थ माता पिता पाने का हक रखता है। इसे संभव बनाएँ
  4. अपना मेडिकल चेकअप करवाएँ - बच्चे का प्रयास करने से पहले आप अपने डॉक्टर से मिलें। आपका पिछला मेडिकल विवरण जानकर, कुछ सरल जाँच करवाकर और आपके लिए बरती जाने वाली कुछ जरूरी सावधानियों की पहचान करके, आपकी गर्भावस्था नियोजन को अधिक सरल बनाया जा सकता है।
  5. गर्भावस्था के दौरान- रोजाना अतिरिक्त 300 कैलोरीज की आवश्यकता होती है। आप निम्नांकित में से किसी से भी अतिरिक्त 300 कैलोरीज हासिल कर सकते हैं:
  • 2 स्लाइस ब्रेड चीज़ और मार्गरीन के साथ
  • ½ लंच और डिनर के लिए अतिरिक्त कटोरा चावल हर दिन अपना कैलोरी गिनना जरूरी नहीं होता। अपने शरीर के बढ़ते वजन से इसे पहचाने। गर्भवती महिलाओं को कुल 11-15 किलोग्राम वजन हासिल करने के लिए दूसरे और तीसरे ट्राइमेस्टर के दौरान एक सप्ताह में औसतन 0.45 किलोग्राम का लक्ष्य रखना चाहिए। यदि आप गर्भावस्था से पहले ही अधिक वजन वाली थीं, तो आपको केवल 6-9 किलोग्राम वजन ही हासिल करना चाहिए।

 

रोचक आलेख

Week 1
गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का पहला त्रैमासिक

पहले त्रैमास के कम से कम आधे हिस्से तक, ज्यादातर महिलाओं को यह एहसास भी नहीं होता कि वे गर्भवती हैं। भले ही यह समझ में नहीं आता है कि हम गर्भधारण होने के पहले सप्ताह से गर्भावस्था के सप्ताहों की गिनती करते हैं, परन्तु अनुमान लगाने का एकमात्र तरीका यही है। पहला त्रैमास जबरदस्त विकास का समय होता है। इस श्रृंखला में, हम इस महत्वपूर्ण त्रैमास में 13 सप्ताहों में से प्रत्येक को देखेंगे और देखेंगे कि यह छोटा है, लेकिन आपके भ्रूण के जीवन की संभावनाओं को अनुकूलित करने के लिए महत्वपूर्ण नींव इसी में रखी जा रही है।

Week 28
गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का तीसरा त्रैमासिक

गर्भावस्था के 12 सप्ताहों के पूरा हो जाने पर , बच्चे का शरीर पूरी तरह से गठित हो जाता है और वह एक छोटे मानव की तरह दिखाई देता है। इसका सिर अपने शरीर के बाकी हिस्सों से आनुपातिक रूप से बड़ा होता है और चेहरे की विशेषताएं पहचानने योग्य हो जाती हैं। दूसरे त्रैमास में शरीर के महत्वपूर्ण अंगों और तंत्रिका तंत्र का विकास अधिक परिपक्व हो जाता है।

गर्भावस्था 20/01/2020

विषय के साथ आलेख